नरेंद्र मोदी और इमरान खान की फिलहाल मुलाकात नहीं: विदेश मंत्रालय


पाकिस्तान की तरफ से भले ही बार-बार यह संकेत देने की कोशिश हो रही है कि भारत सबकुछ भूलकर पाकिस्तान से दोस्ती के लिए तैयार है, लेकिन भारत ने साफ कर दिया है कि जब तक आतंकियों के खिलाफ पाकिस्तान के रवैये में ठोस बदलाव नहीं आता, उसके साथ कोई बातचीत नहीं होगी. इसी क्रम में भारत की ओर से यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच बैठक की कोई संभावना नहीं है. किर्गिस्तान की राजधानी बेशकेक में 13-14 जून को एससीओ की बैठक होने वाली है, जिसमें दोनों नेता भी शिरकत करेंगे.

पाक विदेश सचिव सुहैल मेहमूद के अचानक भारत दौरे पर आने से इस बात के कयास लगाए जाने लगे थे कि बिशकेक में दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की मुलाकात हो सकती है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस में स्पष्ट किया कि पाकिस्तान के साथ बातचीत को लेकर भारत के रुख में कोई बदलाव नहीं आया है. पाकिस्तान के साथ बातचीत की संभावना के बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि भारत का रुख नहीं बदला है. किसी भी बातचीत से पहले आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को संतोषजनक कदम उठाने होंगे. कुमार ने पाकिस्तान के विदेश सचिव के नई दिल्ली आने को भी खास तवज्जो नहीं दी. इसे व्यक्तिगत यात्रा बताया.

कुमार ने इस बात से भी इन्कार किया कि पिछले दिनों विशकेक में तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाक विदेश मंत्री कुरैशी के बीच कोई मुलाकात हुई थी. पाकिस्तान सरकार ने दावा किया था कि दोनों विदेश मंत्रियों के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई थी.

No comments