मध्य प्रदेश के लोगों को उनके ‘मामा’ की कमी खल रही है: शिवराज


मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मामूली अंतर से सत्ता फिसल जाने की बात पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज चौहान के जेहन से अभी तक नहीं उतर पायी है तथा वह चुनाव प्रचार के दौरान जब भी माइक थामते हैं तो यह कहना नहीं भूलते हैं कि लोगों को उनके ‘मामा’ की कमी खल रही है तथा किसानों का शाप कांग्रेस को तबाह कर देगा. राज्य के 29 संसदीय क्षेत्रों के लिए प्रचार कार्यों में व्यस्त तीन बार के पूर्व मुख्यमंत्री चौहान अपनी चुनावी सभाओं में कमलनाथ सरकार पर कृषि रिण, बिजली आपूर्ति, सुशासन एवं सुरक्षा के मामले में लोगों को बेवकूफ बनाने का आरोप लगाना नहीं भूलते हैं.

गुना क्षेत्र के कोलारस में उन्होंने लोगों को बताया कि भोपाल में कुछ नेता उनके आवास पर आए थे. उन्होंने भारी भरकम आंकड़े दिखा कर यह साबित करने का प्रयास किया कि 21 लाख किसानों के दो लाख रूपये तक के रिण माफ कर दिये गये. किंतु वे दस्तावेज उनके दावों का समर्थन नहीं कर रहे थे. उन्होंने बुधवार को एक रैली में कहा, ‘‘कमलनाथ किसे बेवकूफ बना रहे हैं? कुल रिण राशि 48 हजार करोड़ रूपये है तथा उन्होंने अभी तक केवल 13 हजार करोड़ रूपये बैंकों को दिया है. 

यदि आप बैंकों को राशि का भुगतान नहीं कर रहे हैं तो आप यह कैसे कह सकते हैं गरीब किसानों का रिण माफ कर दिया गया है.’’ गुना संसदीय क्षेत्र के तहत शिवपुरी एवं अशोक नगर जिले आते हैं. बुधनी से विधायक चौहान ने कहा, ‘‘किसान कहते हैं कि मामा कृपया वापस आइये और हमारी मदद करिए. जब भी बिजली कटती है, लोग कहते हैं कि मामा आप कहां हो, हमारी मदद करिए.’’ वह कहते हैं कि लोगों को अपने मामा की कमी महसूस कर रहे हैं.

No comments