मृत पेंगोलिन के साथ सिक्किम के 5 तस्कर गिरफ्तार


मृत पेंगोलिन के साथ उत्तर बंगाल वन विभाग द्वारा गठित स्पेशल टास्क फोर्स ने पांच अंतराष्ट्रीय तस्कर को गिरफ्तार किया है. इनके पास से साढ़े सात किलो का पेंगोलिन, एक कार व कई अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं. आरोपियों में संतोष कुमार ब्याहुत, अर्जुन राई, कमल सुंदास, गोपाल दोर्जे व उमेश सुब्बा शामिल हैं. सभी आरोपी पड़ोसी राज्य सिक्किम के निवासी हैं. पांचों को बुधवार जलपाईगुड़ी अदालत में पेश किया जायेगा. 

वन विभाग आरोपियों से पूछताछ कर गिरोह के अन्य सदस्यों का पता लगाने में जुटी है. जानकारी के आधार पर संजय दत्त के नेतृत्व में वन विभाग की स्पेशल टास्क फोर्स की टीम ने तस्करों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया. बंगाल-सिक्किम सीमांत इलाके में टीम के सदस्य घात लगाकर बैठे. मुखबिर द्वारा मिली जानकारी के आधार पर कालीझोड़ा इलाके में एक कार का पीछा कर उसकी तलाशी ली गयी. 

कार की डिक्‍की में साग-पात से भरी एक बोरी में मृत पेंगोलिन बरामद हुआ. वन विभाग ने पेंगोलिन को जब्त कर लिया. साथ ही पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. वन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार बरामद पेंगोलिन का वजन साढ़े सात किलो है. विलुप्त वर्ग में शामिल इस वन्यजीव की हत्या सिक्किम के जंगलों में करने की बात आरोपियों ने मानी है. 

70 हजार रुपये प्रति किलो की डील पर पेंगोलिन को पड़ोसी देश भूटान पहुंचाया जाना था. आरोपियों में शामिल एक व्यक्ति सिविल इंजीनियर व बाकी चार सिक्किम में होटल व्यवसाय से जुड़े हैं. टास्क फोर्स प्रमुख संजय दत्त ने बताया कि पूछताछ में पांचों ने पेंगोलिन की हत्या की बात मान ली है. वन विभाग के असिस्‍टेंट वाइल्ड लाइफ वार्डन राहुल देव मुखर्जी की उपस्थिति में आरोपियों का कबूलनामा रिकॉर्ड किया गया है. 

गिरफ्तार पांचों आरोपी वन्यप्राणियों के देवावशेषों की तस्करी में पिछले काफी समय से लिप्‍त हैं. इनके तार नेपाल, भूटान व चीन के अंतर्राष्ट्रीय तस्कर गिरोह से भी जुड़े हुए हैं. पेंगोलिन को भूटान भेजने की जानकारी भूटान वन विभाग के साथ भी साझा की गयी है. 

वहीं, सिक्किम राज्य सरकार के वन विभाग के साथ भी संपर्क किया जा रहा है. पांचों आरोपियों को वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन एक्ट-1972 की धारा 29, 39 व 49बी के तहत चालान कर बुधवार जलपाईगुड़ी अदालत में पेश किया जायेगा.

No comments