विदेश व्यापार नीति की मध्यकालिक समीक्षा जल्द: सुरेश प्रभु


वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि निर्यात में तेजी लाने के उद्देश्य से विदेश व्यापार नीति (एफटीपी) की मध्यकालिक समीक्षा जल्द जारी की जायेगी। उन्होंने कहा कि वाणिज्य मंत्रालय निर्यात के मामले में अलग अलग देश के हिसाब से रणनीति तैयार करने पर काम कर रहा है। सुरेश प्रभु यहां प्रगति मैदान 37वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ) के उद्घाटन समारोह में उपस्थित उद्यमियों और देश-विदेश से पहुंचे प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘बहुत जल्द ही हम विदेश व्यापार नीति की मध्यकालिक समीक्षा लेकर आयेंगे।’’ उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय व्यापार के संवर्धन से देश की आर्थिक वृद्धि बढ़ाने में मदद मिलेगी।

‘‘हम अपना निर्यात बढ़ाना चाहते हैं लेकिन इसके साथ ही आयात को हतोत्साहित नहीं करेंगे। हम भारत की सकल आर्थिक वृद्धि और अर्थव्यवस्था को विकसित करने के लिये अंतरराष्ट्रीय व्यापार को बढ़ाने पर जोर देंगे।’’ पांच वर्षीय विदेश व्यापार नीति (2015-20) देश से माल एवं सेवाओं के निर्यात को बढ़ाने की रूपरेखा प्रदान करती है। इसके साथ ही इससे रोगजार बढ़ाने और मूल्य वर्धन को भी बढ़ावा मिलता है। प्रभु ने यह भी कहा कि पिछले कई सालों से प्रदर्शनी स्थल के रूप में विख्यात हो चुके प्रगति मैदान को नये सिरे से विकसित किया जा रहा है। दो साल में यह नये रूप में बनकर तैयार हो जायेगा। यहां विश्वस्तरीय प्रदर्शनी हॉल और सम्मेलन कक्ष बनाये जायेंगे।

संवाददाताओं से बातचीत में बाद में उन्होंनें कहा कि मंत्रालय निर्यातकों के जीएसटी से जुड़े मुद्दों के समाधान में उनकी मदद कर रहा है। व्यापार मेले में स्टार्ट-अप इंडिया, स्टैण्ड-अप इंडिया मंडप का उद्घाटन करते हुये प्रभु ने कहा कि स्टार्ट अप इंडिया आज वास्तविकता बन चुका है। इस समय देश में 20,000 से अधिक स्टार्ट अप काम कर रहे हैं। वाणिज्य मंत्री ने कहा कि उन्होंने सिडबी के अधिकारियों से कहा है कि वह युवा उद्यमियों के वित्त संबंधी मामलों का समाधान करने में मदद करें। ‘‘मैंने उनसे कहा है कि धन की कोई समस्या नहीं होनी चाहिये।’’ उन्होंने कहा कि मंत्रालय अंतरराष्ट्रीय वित्त निगम की मदद से जल्द ही स्टार्ट अप के लिये एक बैठक का आयोजन करेगा।

‘‘हम सभी बड़े पूंजी उद्यम कोषों को आमंत्रित कर रहे हैं, हम एंजल निवेशकों को भी आमंत्रित कर रहे हैं।’’ इस बार मेले की मुख्य विषय वस्तु भी ‘स्टार्ट अप इंडिया- स्टैण्ड अप इंडिया’ रखा गया है। मेला 14 से 27 नवंबर तक चलेगा। पहले चार दिन केवल कारोबारी दर्शकों के लिये रखे गये हैं। इस बार मेला 52,000 वर्गमीटर क्षेत्र में ही आयोजित किया जा रहा है। शेष इतने ही क्षेत्र में पुनर्निर्माण का कार्य चल रहा है। झारखंड के शहरी विकास मंत्री सी.पी. सिंह भी मेले के उद्घाटन समारोह में उपस्थित थे। उन्होंने उद्यमियों को झारखंड में निवेश के लिये आमंत्रित करते हुये कहा कि राज्य निवेशकों के लिये कारोबार सुगमता के क्षेत्र में कई कदम उठा रहा है। मेले की आयोजक संस्था इंडिया ट्रेड प्रमोशन आर्गनाइजेशन (इटपो) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एल.सी. गोयल भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

No comments