ममता बनर्जी ने 'पद्मावती' के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन को बताया 'सुपर इमरजेंसी'


पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री  ममता बनर्जी ने कहा है कि आधार लिकिंग में बहुत सी दिक्कतें हैं। आधार कार्ड के नाम पर जानकारियां वेबसाइटों पर लाई जा रही है जो अभिव्यक्ति की आजादी, समाज और देश के लिए खतरा है। वो ऐसा क्यों कर रहे हैं, मुझे नहीं पता। कुछ लोग बुरा करने के बाद भी अच्छा महसूस करते हैं। इस दौरान बनर्जी ने पद्मावती फिल्म के खिलाफ विरोध की पूरी घटना को 'सुपर इमरजेंसी' का नाम दिया। उन्होंने कहा कि पद्मावती विवाद ना सिर्फ दुर्भाग्यपूर्ण हैं बल्कि यह एक राजनीतिक दल का प्लान किया हुआ एजेंडा है। हम इस सुपर इमरजेंसी की निंदा करते हैं। बनर्जी ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री में जितने भी लोग हैं सभी इसके खिलाफ आवाज उठाएं।

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पद्मावती को राष्ट्रमाता बताया है। एक सभा में उन्होंने ऐलान किया कि Padmavati मध्य प्रदेश में रिलीज नहीं होगी। चौहान ने कहा कि - ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ कर अगर राष्ट्रमाता पद्मावती जी, उनके सम्मान के खिलाफ जिस फिल्म में यह दृश्य दिखाए गए हैं या कोई बात कही गई है, इस फिल्म का प्रदर्शन मध्य प्रदेश की धरती पर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मैं यह इसलिए कह रहा हूं कि राष्ट्र के अपमान को यह देश , मध्य प्रदेश स्वीकार नहीं करेगा।

गौरतलब है कि संजय लीला भंसाली की निर्देशित फिल्म पद्मावती अब 1 दिसंबर को रिलीज नहीं होगी। फिल्म निर्माता कंपनी वायकॉम 18 ने फिल्म की रिलीज फिलहाल टाल दिया है। समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार फिल्म निर्माता ने स्वतः रिलीज डेट टालने का फैसला किया है।

No comments