संस्कृति को पकड़ कर रखने की जरूरत नहीं होती: अनुष्का शंकर


जानी मानी संगीतज्ञ अनुष्का शंकर अपने पिता सितारवादक पं. रवि शंकर की विरासत को आगे लेकर जा रही हैं और उनका कहना है कि किसी को अपनी परंपराओं को पकड़ कर रखने की जरूरत नहीं है क्योंकि संस्कृति तो जन्मजात और स्वाभाविक रूप से होती है।

अनुष्का का कहना है कि आपको इसे लेकर निश्चिन्त होना सीखना चाहिए। साक्षात्कार में 36 वर्षीय संगीतज्ञ अनुष्का ने कहा, ‘‘ बीते कुछ वर्षों में मैंने यह महसूस किया है कि संस्कृति को पकड़े रहने के बजाए उन्मुक्त रहने देना चाहिए। आप जब उसे छोड़ देंगे तो पाएंगे कि वह यहीं है।

यह एक तरह से आपके भीतर ही है, आपका पालन-पोषण कुछ इसी तरह से किया गया है और इसलिए यह आपके साथ रहती है। आपको अपनी संस्कृति में थोड़ा भरोसा रखना चाहिए। ’’उन्होंने कहा कि परंपराओं को लोगों पर यदि थोपा जाएगा तो मिलकर आगे बढ़ने का महान विचार असफल हो जाएगा।

No comments