दिल्ली में 13 से 17 नवंबर तक ऑड-इवन योजना होगी लागू


दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए सरकार ने पांच दिनों के लिए ऑड-इवन लागू करने का निर्णय लिया है। दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने संवाददाता सम्मेलन में जानकारी देते हुए बताया कि 13 से 17 नवंबर तक यह योजना लागू की जायेगी। उन्होंने कहा कि ऑड-इवन से वीवीआईपी की गाड़ियों, सीएनजी वाहनों, एंबुलेंस, इलेक्ट्रिक कार, पुलिस वैन तथा दोपहिया वाहनों को छूट रहेगी। साथ ही महिला यदि वाहन चला रही हो या यदि कोई अभिभावक स्कूल ड्रेस में मौजूद बच्चे को स्कूल छोड़ने जा रहा है तो उसे भी छूट दी जायेगी।

गहलोत ने बताया कि सीएनजी वाहनों के लिए शुक्रवार से स्टीकर मिलने शुरू हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार अतिरिक्त बसों के परिचालन की व्यवस्था कर रही है। उन्होंने कहा कि मेट्रो के फेरे बढ़ाने के लिए भी दिल्ली मेट्रो से कहा गया है।

गहलोत ने पिछले माह ही कहा था कि दिल्ली सरकार प्रदूषण का स्तर बढ़ने के मद्देनजर सड़कों पर कारों की संख्या को प्रतिबंधित करने के लिए सम-विषम योजना को फिर से लागू कर सकती है। मंत्री ने दिल्ली परिवहन निगम और अपने मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर कहा था कि जब कभी सम-विषम की घोषणा की जाती है, वे इसे लागू करने के लिए ‘‘पूरी तरह तैयार’’ रहें।

उल्लेखनीय है कि वाहनों की पंजीकरण संख्या के आखिरी अंक पर आधारित यह योजना वर्ष 2016 में दो बार- एक जनवरी से 15 जनवरी और फिर 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक लागू की गई थी। इस योजना के तहत सम और विषम संख्या वाले वाहन सम विषम तारीखों वाले दिनों में सड़कों पर चलते हैं। वायु प्रदूषण स्तर के 48 घंटे या इससे अधिक समय के लिए ‘आपात’ श्रेणी में रहने पर इसे लागू किया जाता है।

No comments