राष्ट्रीय राहुल ने GST को बताया गब्बर सिंह टैक्स


गांधीनगर। व्यापक कर सुधार और नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर निशाना साधते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्पाद एवं सेवा कर (जीएसटी) को ‘‘गब्बर सिंह टैक्स’’ बताया। गुजरात में विधानसभा चुनाव के नजदीक आने के बीच, राहुल ने यह भी कहा कि गुजरात अनमोल है और इसे कभी भी खरीदा नहीं जा सकता। उनकी यह टिप्पणी पाटीदार नेता नरेन्द्र पटेल के इस दावे के एक दिन बाद आयी है कि भाजपा में शामिल होने के लिये उन्हें एक करोड़ रुपये की पेशकश की गयी थी।

भाजपा ने उनके आरोप को खारिज कर दिया। एक रैली में, राहुल ने जीएसटी का मुद्दा भी उठाया और लोगों को इससे हुयी परेशानियों को रेखांकित किया। इस रैली में प्रदेश के ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर कांग्रेस में शामिल हुए। गुजरात में करीब दो दशक से सत्तारूढ़ भाजपा से मुकाबला करने के लिए कांग्रेस की रणनीति अपना राजनीतिक और सामाजिक दायरा बढ़ाने की है। राहुल ने गांधीनगर में ठाकोर समुदाय की रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘उनकी (केंद्र की) जीएसटी जीएसटी नहीं है। जीएसटी का मतलब है गब्बर सिंह टैक्स। इससे देश को काफी नुकसान हो रहा है। छोटे दुकानदार समाप्त हो गए हैं। लाखों युवक बेरोजगार हो गए। लेकिन वे अब भी सुनने को तैयार नहीं हैं।’’

दिवंगत अमजद खान ने बहुचर्चित हिंदी फिल्म शोले में डकैत गब्बर सिंह का किरदार निभाया था। यह किरदार हिंदी फिल्मों के बहुचर्चित किरदारों में से एक है। राहुल ने कहा कि मौजूदा जीएसटी वह नहीं है जिसकी परिकल्पना कांग्रेस ने की थी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने नयी कर व्यवस्था के प्रतिकूल प्रभाव के बारे में सरकार को आगाह किया था लेकिन मोदी सरकार ने उन सुझावों के खिलाफ काम किया। राहुल ने सरकार से नयी कर व्यवस्था को सरल बनाने को कहा। राहुल ने नोटबंदी को लेकर भी मोदी का उपहास किया। नोटबंदी की घोषणा पिछले साल आठ नवंबर को हुयी थी। उन्होंने कहा, ‘‘ आठ नवंबर को क्या हुआ, नहीं मालूम, मोदी ने कहा कि 500 और 1000 रूपए के नोट मुझे नहीं पसंद है, इसलिए आज रात 12 बजे से वे रद्दी हो जाएंगे। हा हा हा।’’ राहुल ने कहा कि पहले दो-तीन दिनों तक प्रधानमंत्री को नहीं समझ आया कि क्या हो गया।

‘‘प्रधानमंत्री ने पांच-छह दिनों बाद अपनी गलती महसूस की।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि ‘‘नरेंद्र मोदी जी ने पूरे देश की अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया।’’ राहुल ने हार्दिक पटेल की अगुवाई वाली पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता नरेंद्र पटेल के रिश्वतखोरी के आरोपों को लेकर मोदी और भाजपा को आड़े हाथों लिया। राहुल ने कहा कि गुजरात में सभी जातियों के हजारों युवा अब शांत नहीं रहेंगे और उनकी आवाज को न तो ‘‘दबाया’’ जा सकता है और न ही ‘‘खरीदा’’ जा सकता है। राहुल ने कहा, ‘‘यह गुजराती आवाज कोई मामूली आवाज नहीं है। गुजरात की इस आवाज को दबाया या खरीदा नहीं जा सकता। आप कोई भी पेशकश कर सकते हैं।

एक करोड़ रुपये, दस करोड़ रुपये, 50 करोड़ रुपये, 1000 करोड़ रुपये, भारत का पूरा बजट, दुनिया का पूरा धन। लेकिन यह गुजराती आवाज खरीदी नहीं जा सकती।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले भी इस आवाज को दबाने के प्रयास किये गये। अंग्रेजों ने गांधीजी का दमन करने की कोशिश की। पहले दक्षिण अफ्रीका में, फिर गुजरात में और भारत में। लेकिन गुजरात की आवाज ने उस महाशक्ति को देश से खदेड़ दिया।’’इसके पहले आज दिन में, राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘गुजरात अनमोल है।

इसे कभी भी खरीदा नहीं गया। इसे कभी भी खरीदा नहीं जा सकता। इसे कभी भी खरीदा नहीं जा सकेगा ।’’ भारतीय जनता पार्टी ने नरेन्द्र पटेल के आरोपों को खारिज करते हुये इसे कांग्रेस के इशारे पर किया जाने वाला एक ‘नाटक’ करार दिया। भाजपा की गुजरात इकाई के प्रवक्ता भरत पंड्या ने कहा, ‘‘सभी आरोप झूठे हैं। यह कांग्रेस के इशारे पर नरेन्द्र पटेल द्वारा किया गया नाटक है।’’

No comments