निमरत कौर मानती हैं भाई-भतीजावाद से सफलता नहीं मिलती


फिल्म अभिनेत्री निमरत कौर का मानना है कि बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद पर बढ़ा-चढ़ा कर चर्चा हुयी है जबकि ऐसा कुछ ज्यादा नहीं दिखता। वह कहती हैं कि जब आप भाई-भतीजावाद पर चर्चा करते हैं तो यह सभी पेशे में होता है। उदाहरण के लिए, एक वकील के बेटे को वकील बनने में आसानी होती है और ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह उस वातावरण में पला-बढ़ा होता है.. और वातावरण में वह घुला मिला रहता है। वह कहती हैं कि इसी तरह, एक अभिनेता के बच्चे को भी यह लाभ मिलता है। लेकिन तब यह सच्चाई है कि इस पर हमेशा अंतिम मोहर दर्शकों की होती है। वह कहती हैं कि आखिरकार जीवन के क्या मायने हैं ‘‘आप कहां जा रहे हैं और यह नहीं कि आप कहां से आ रहे हैं।’’ अभिनेत्री ‘द टेस्ट केस’ नामक वेब धारावाहिक में नजर आने वाली हैं जिसमें वह एक सैन्य अधिकारी की भूमिका में हैं। उन्होंने बताया कि यह उनके ‘दिल के काफी करीब है।’’ नागेश कुकनूर के निर्देशन में बना यह वेब धारावाहिक एकता कपूर के बालाजी डिजिटल स्पेस एएलटी बालाजी पर प्रसारित होगा।

निमरत कौर का कहना है कि सफल होने के बाद उनके पास कई ऑफर आए लेकिन उन्होंने उनसे परहेज किया क्योंकि ज्यादा दिखो तो लोग ऊब जाते हैं। 35 वर्षीय अदाकारा ने थिएटर और संगीत वीडियो से अपना कॅरियर शुरू किया था लेकिन रितेश बत्रा की ‘द लंचबॉक्स’ में इरफान खान के साथ काम करने के बाद उन्हें खूब शोहरत मिली। वर्ष 2016 में ‘एयरलिफ्ट’ की कामयाबी के बाद उन्हें कई फिल्मों की पेशकश मिलीं लेकिन निमरत ने एक के बाद एक फिल्में साइन नहीं कीं क्योंकि उनका मानना है कि कलाकार को अधिक देखने से दर्शक ऊब जाते हैं। वह कहती हैं कि अगर कोई लगातार फिल्में साइन करता जाएगा तो वह अधिक दिखने लगेगा और लोग आपको देखकर बोर हो जाएंगे और फिर आपको काम नहीं मिलता है।

No comments